बावखुंग्रि हाजोनि जौगि, by Ronjoy Brahma Subscribe to rss feed for Ronjoy Brahma

"गाखोहैयाबा माथो?
देग्लायबो
गाखोहैनांगौ।

साफायाव बाजौ एबा
ब्रैजौ खेन्दा हिसाबै
लाबानो जाया होनबा?"

आफादगिरिनि सोँनायाव
बेबादि फिनदोँमोन आं।
बेरग'निफ्राय मोदै
थरथिँ थरथिँ गदोँमोन।

(थांनाय बोसोराव जोँ
जोबोद खुसियैनो
बावखुंग्रि हाजोआव
गाखोहैदोँ।

बावखुंग्रि हाजोआव
जौगिसिखौ हाजासे
बायदोँ आरो लोँदोँ।

लोँदोँबो लोँदोँ जोँनि
हानजानि बांसिनानो
सिखारनो हायैसिम
फेदोँ।

आंबो गोगोमैनो
फेदोँमोन।
खुनुमुथैसो बेरग'मोना
बोद्रुनानै मटराव सोना
लाबोदोँ आंखौ।

फैनाय समाव मटरावनो स'
आरो स' लोँनायनिफ्रायबो
बांसिन गोबाफिनदोँ।

बेबादिनो सानथाम मानि
लोरबां जालायदोँमोन
आं।

बुंनो थाङोब्ला
बावखुंग्रियाव
लोँनायल' जादोँ थांनाय
बोसोराव।

गामियावथ' मोनामसुनो
मोननायाखिसैनो।

बबेबा बबेबा बैसागु
फांसनाव लोरबांनि
थाखायनो नायनो
हायाखिसै।

बर' हिनजावफ्रादि एफा
गोदै गोदै जौ संनो
रोँगौ थांनाय
बोसोरावसो मिथिदोँ आं।

जेब्ला बावखुंग्रिनि
जौगिसिखौ मोनलोङो।

बेरग'आ लोँसे लोँनानैबो
बथल गंसे बायना
लाबोबावदोँमोन नसिम
बावखुंग्रिनि
जौगिसिखौ।

बेबादिनो बियो गावनि
सखि सिङाव फसंना
दोनफैदोँमोन।

जारौरौ अनथाव बाथाव
गोमो जौगिसियाबो
सानथामसिम थादोँ।

सानथामनि उनावबो
अन्नानै लोङाखिसै
बेरग'आ।

नाथाय बेरग' बिफा दंगरा
नुनाय लोगो लोगो
सानथामनि उनाव बेरग'
गैयै समाव हां खनसेयैनो
ग्रद ग्रद गोदावना
फोजोब्बाय।

"हाब गोदैथारब्रा
बावखुंग्रिनि
जौगिसिया बिमा।

नोँथ' बेबादिखौनो संनो
रोङालै बिमा बर'
जानानैबो।"

बिसि थिँखिखौ
बुंदोँमोन दंगरा।

अखानायै बेरग'आ बहा
थांखो नागिरना
मोनाखिसै।

बिमानियाव सोँबा
बिफाखौ लोँदोँ होनना
खिन्थादोँमोन
थिँखिया।

ओइबासिनो बिफाखौ
रागाजोँनो बारनानै
जोदोँ बेरग'आ।

ओइदिनखालि महाभारतआव
भीमजोँ बकासुरजोँ
बुलायनाय बादियानो
जादोँ।
बेरग' आरो बिफा दंगरनि
गेजेराव।

नसुंनि फोरलां
दांग्राया बोखायाबा
बकासुरा भीमजोँ
थैनायबादि दंगराबो
फिसानि आखायाव
मेलाथारगौमोन।

मैया गामियाव बैसागुनि
सिगां सिगां मेल जानानै
थांबाय।

गामिनि गोबां
सेंग्राफोरानो
जुरिमाना नांबाय।

बेरग'आ बिफाखौ बुनायनि 1
रोजा 1 रां जुरिमाना।

लरग' आरो मेँख्लआबो
थांनाय बैसागुआव
बुलायनायनि 5 रोजा 1
रां।
सासेया 2 रोजा 501 रां।

सिथर बिथांआबो हाबा
जायिनि सिगां गावनि
हिनजावजोँ
उन्दुदेरनायनि 2 जौ नै
रां।फंस्लथबाद।)

देग्लायबो बावखुंग्रि
हाजोआव गाखोहैनो जोबोद
गोसोमोन बेरग'आ।
Posted: 2016-04-30 05:30:02 UTC

This poem has no votes yet. To vote, you must be logged in.
To leave comments, you must be logged in.
Tweet